JALTE BUJHTE LYRICS (Hindi) – Ghost

Jaltey bujhtey maddham maddham
Taaron mein lipti raat hai
Kaise jaane de tumhe
Tumse judi har baat hai

Jalte bujhte maddham maddham
Taaron mein lipti raat hai
Kaise jaane de tumhe
Tumse judi har baat hai

Yun silvaton mein hi chhoope
Raaz saare rehne do
Nazdeekiyan mehsoos ho
Lamhon ko aise behne do

Dohra rahi hai phir woh kahaani
Phir se wohi jazbaat hai
Kaise jaane de tumhe
Tumse judi har baat hai

Boondon ki ye saazishein
Kare kaisi harqatein
Aahista aahista se jagi hai hasratein
Haan.. mehki hai tumse chandni
Tumse hi to barsaat hai
Kaise jaane de tumhe
Tumse judi har baat hai

Jalte bujhte maddham maddham
Taaron me lipti raat hai
Kaise jaane de tumhe
Tumse judi har baat hai

जलते बुझते मद्धम मद्धम
तारों में लिपटी रात है
कैसे जाने दे तुम्हें
तुमसे जुड़ी हर बात है

जलते बुझते मद्धम मद्धम
तारों में लिपटी रात है
कैसे जाने दे तुम्हें
तुमसे जुड़ी हर बात है

यूँ सिलवटों, में ही छूपे
राज़ सारे रहने दो
नज़दीक़ियाँ महसूस हो
लम्हों को ऐसे बहने दो

दोहरा रही है फिर वो कहानी
फिर से वो ही जज़्बात है
कैसे जाने दें तुम्हें
तुमसे जुड़ी हर बात है

बूँदों की ये साज़िशें
करे कैसी हरक़तें
आहिस्ता आहिस्ता से जगी है हसरतें
हाँ महकी है तुमसे चाँदनी
तुमसे ही तो बरसात है
कैसे जाने दें तुम्हें
तुमसे जुड़ी हर बात है

जलते बुझते मद्धम मद्धम
तारों में लिपटी रात है
कैसे जाने दे तुम्हें
तुमसे जुड़ी हर बात है

Leave a Reply

Close Menu